Marijuana Health Benefits

भगवान शिव और भांग के बारे में हमें गलत बताया गया है!



महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव और मां पार्वती का विवाह हुआ था. महाशिवरात्रि…

Show More

Related Articles

46 Comments

  1. Saale hindu samaj ne khud ke saath saath bhagwaan ko bhi badnaam kar ke rakh diya hai ! Ye saalo jo bhaang khate hai zara unse koi poonche ki bhagwaan ko kya pasand hai nahi bata payenge kun ki bhagwaan ke bataye raste par chalta hi kauon hai ! Wahi baat hai na ki jo khud ko lage sahi wahi bhagwaan ko lage sahi jo khud ko lage galat wahi bhagwaan ko lage galat waah bhai waah kya baat hai

  2. Shiva is the best no one older than Shiva and also no one is worthy of worship other than Shiva
    Shiva is real and formless also shiva is omnipresent
    Jai Shiv shanker sambhu 💗
    Har Har Mahadev 🙏

  3. यह बात तो सत्य है कि भगवान शिव को भांग गांजा नहीं चढ़ाना चाहिए लेकिन कुछ लोग अपने खाने के लिए भांग और गांजा चढ़ाव आते हैं . और दूसरे धर्म के लोग और वामपंथी लोग भगवान शिव को नशेड़ी बोलते हैं गलत प्रथा का फायदा उठाकर.

  4. सही कहा इन्होंने इन पंडित पुजारियों ने हमारे ग्रंथों में उल्टा सीधा लिख दिया है जिससे अज्ञानता के कारण लोग भटक चुके है

  5. Every india should take a as a medication it is good for health help you deep sleep American drugs company make oil out of banng to treat cancer h I v aids & other illness do indian know that it is billion dollar trade thank you just cheak on u tube c b d oil

  6. Bhag pine se aanad miltha jub shiv ka din ho usdin khushi ka din rahetha hai sub Majhe main rahethe hai. Shiv se hi duniya chelthi hai shiv par hi khatam hoti hai. …om namh shivay

  7. वो आदियोगी है उन्हें बस कुछ खराब लोग ही नही समझ सकते हैं।
    शिव जी तो अपार है अनंत हैं
    ये भांग जैसी तुच्छ चीजे बहुत छोटी है ।
    हर हर महादेव

  8. भगवान शिव कभी ये नहीं कहते की भांग का प्रसाद बनावो
    भांग धतूरा चढ़ाने का मतलब ये है कि दुनिया की सारे नसे और सारे जहर को भगवान को अर्पित करके खुद सारी बुराइयों से बचें
    भगवान शिव ने जहर इस लिए नहीं पिया था कि पूरा संसार विष को प्रसाद समझ कर पिएं
    जय भोलनाथ

  9. हिन्दूओं को धर्मिक geyan nhi है इसलिये कोई वी कुश बोल दे मान जाते है जेसे शिवलिंग का अर्थ बहुत कम हिन्दुओ को मालूम है

  10. और हाँ , आज जो ईंट को चादर से ढकने वाले हैं न , उनको बोलना चादर किसी गरीब को दे दें बार बार हिंदूओ को हि ज्ञान देने कि जरूरत नहीं है

  11. भाड़्ग खाने वाले अपनी आदतो से बाज नहीं आते है और भगवान का प्रसाद कहकर भगवान को दोषी बना देते हैं। ऐसे नशेड़ियो को चाहिए कि हलाहल जहर को जो भगवान श्री शिव शंकर ने सृष्टि को बचाने के लिए पिये थे उस जहर को भी ये भक्त भगवान की प्रसाद बता कर क्यों नहीं ग्रहण करते।
    अरे स्वार्थी मानव अपनी बुरी आदतों को छोड़ दो कितना दिन भगवान पर दोषारोपड़ करेगा यह भाग धतुरा भगवान का प्रसाद नहीं है। यह सब जीवन नरक बनाने के साधन है भक्त मैं भी भगवान का हूँ लेकिन दिखावा नहीं करता बस ओम नम: शिवाय जप लेता अपने घर के मन्दिर में भगवान की आराधना कर लेता भाड़्ग धतुरा खाकर हरिहर को दोषी नहीं बनाता कम से कम भगवान के प्रकोप से बचो और बुरी आदतों को छोड़ दो नहीं तो विनाश से तुमको कोई नहीं बचा सकता।
    ओम नम: शिवाय 🙏🙏
    अजीत यादव जबरैला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Translate »
Close